ads banner
ads banner
F1 News in HindiSingapore GPसिंगापुर GP में होगा बदलाव? बदल सकता है DRS का नियम!

सिंगापुर GP में होगा बदलाव? बदल सकता है DRS का नियम!

F1 न्यूज़: सिंगापुर GP में होगा बदलाव? बदल सकता है DRS का नियम!

फार्मूला 1 का अगला ग्रांड प्रिक्स सिंगापुर में होने वाला है। सिंगापुर का मरीना बे स्ट्रीट सर्किट है, यहां की सड़कें भी बहुत सकरी है। ऐसे में उम्मीद की जा रही है सिंगापुर GP में बदलाव हो सकता है।

बदलाव DRS के संदेश में हो सकता है, मिली रिपोर्ट के अनुसार कहा जा रहा है कि आने वाले वीकेंड में सिंगापुर GP में कम से कम तीन DRS Zone होंगे। FIA शायद इसके साथ ओवरटेकिंग को प्रोत्साहित करने की भी उम्मीद करता है।

2 साल बाद लौटा सिंगापुर GP

दो साल तक अनुपस्थित रहने के बाद, 2022 सिंगापुर GP F1 कैलेंडर पर वापस आ गया है। कोरोना वायरस के चलते दो साल तक रेस नहीं हो पाई थी, लेकिन अब दोबारा हो सकती है।

मरीना बे स्ट्रीट सर्किट कई ड्राइवरों के बीच एक पसंदीदा सर्किट है क्योंकि यह उनसे बहुत कुछ मांगता है। हालांकि यहां ओवरटेक करना इतना आसान नहीं है।

सिंगापुर में अधिक ओवरटेकिंग

क्योंकि यह एक स्ट्रीट सर्किट है और मरीना बे में सड़कें भी बहुत संकरी हैं, ओवरटेक करना बहुत मुश्किल है। आमतौर पर, ओवरटेकिंग एक पिट के स्टॉप और साथ में अंडरकट या ओवरकट के माध्यम से होता है।

2022 में, तीन DRS ज़ोन के साथ, F1 और FIA को ऑन-ट्रैक ओवरटेकिंग में भी वृद्धि की उम्मीद है।

पहला DRS डिटेक्शन पॉइंट टर्न 3 के ठीक बाद बैठता है। यह निर्धारित करता है कि टर्न 5 और टर्न 7 के बीच स्ट्रेट पर एक ओपन रियर विंग तक आपकी पहुंच है या नहीं।

टर्न 13 से ठीक पहले, टर्न 13 और 14 टर्न के बीच DRS स्ट्रेच के लिए दूसरा डिटेक्शन पॉइंट है। अंतिम DRS स्ट्रेच खत्म हो गया है, जिसे फिर से शुरू करने की उम्मीद की जा रही है।

F1 में DRS क्या है?

डीआरएस का फुल फॉर्म ‘ड्रैग रिडक्शन सिस्टम’ (Drag Reduction System) होता है। DRS को पहली बार 2011 में फॉर्मूला 1 में पेश किया गया था।

सीधे शब्दों में कहें तो यह एक F1 कार पर एक रियर-माउंटेड विंग है जिसे ड्राइवर अपने एयरोडायनामिक (Aerodynamics) को बढ़ाकर स्पीड बढ़ाने के लिए एक्टिवेट कर सकता है।

ये भी पढ़ें: Singapore GP होगा और भी ज़्यादा रोमांचक, आयोजकों ने दिया संकेत

Ankit Singh
Ankit Singhhttps://f1insidernews.com/
मैं विभिन्न प्रकार के मीडिया आउटलेट्स के लिए F1 से संबंधित खबरों को कवर करता हूं। मैं न्यूज इंडस्ट्री में पिछले 5 से अधिक वर्षों से काम कर रहा हूं। Formula 1 की खबरों से अपडेट रहने के लिए साइट विजिट करते रहें।

शेयर F1 न्यूज़:

Formula 1 की ताज़ा खबरे हिन्दी में

ब्रेकिंग और लेटेस्ट न्यूज़